Headline
पीएम मोदी के कार्यक्रम में किच्छा के युवक को किया गया नोमिनेट
सुप्रीम कोर्ट की फटकार : हरक सिंह रावत और किशन चंद को कॉर्बेट नेश्नल पार्क मामले में नोटिस
उत्तराखंड के ग्राफिक एरा यूनिवर्सिटी में CM धामी ने किया छठवें वैश्विक आपदा प्रबंधन सम्मेलन का शुभारम्भ
उत्तराखंड में निर्माणाधीन टनल धंसने से बड़ा हादसा, सुरंग में 30 से 35 लोगों के फंसे होने की आशंका, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी
मशहूर टूरिस्ट स्पॉट पर हादसा, अचानक टूट गया कांच का ब्रिज, 30 फीट नीचे गिरकर पर्यटक की मौत
81000 सैलरी की बिना परीक्षा मिल रही है नौकरी! 12वीं पास तुरंत करें आवेदन
देश के सबसे शिक्षित राज्य में चपरासी की नौकरी के लिए कतार में लगे इंजीनियर, दे रहे साइकिल चलाने का टेस्ट
Uttarakhand: पहली बार घर-घर किया गया विशेष सर्वे, प्रदेश से दो लाख मतदाता गायब, नोटिस जारी
Uttarakhand: धामी सरकार का एलान, राज्य स्थापना दिवस तक हर व्यक्ति को मिलेगा आयुष्मान कवच

2023 में नई ऊंचाईयों को छुएगा उत्तराखंड, 13 जिलों में ये 13 प्रोजेक्ट लिखेंगे विकास की नई इबारत

नए साल 2023 के साथ आज देवभूमि भी नई शुरुआत करेगी। तरक्की की राह पर तेजी से कदम बढ़ा रहे उत्तराखंड के 13 जिलों के 13 प्रोजेक्ट राज्य की तस्वीर बदल देंगे। इनके धरातल पर उतरते ही राज्य की विश्व पटल पर नई पहचान होगी। ये प्रोजेक्ट पीएम मोदी के उस प्लान का भी हिस्सा हैं, जिसमें उन्होंने कहा था कि आने वाला दशक उत्तराखंड का है।

1. चमोली : रोपवे से 45 मिनट में पूरा होगा हेमकुंड साहिब का सफर
सिखों के पवित्र धर्मस्थल हेमकुंड साहिब के लिए रोपवे बनने से यात्रा बेहद आसान हो जाएगी। गोविंदघाट से हेमकुंड साहिब तक बनने वाले दुनिया के सबसे ऊंचे रोपवे की लंबाई 12.4 किमी होगी। हेमकुंड साहिब गुरुद्वारा ट्रस्ट के उपाध्यक्ष नरेंद्रजीत सिंह बिंद्रा ने बताया कि रोपवे बनने से श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ेगी। बदरीनाथ आने वाले 60 फीसदी यात्री भी हेमकुंड साहिब पहुंच सकेंगे। रोपवे से हेमकुंड साहिब तक का सफर सिर्फ 45 मिनट में पूरा होगा। खर्चा भी महज 1100 रुपये होगा। बुजुर्ग और दिव्यांग श्रद्धालुओं को ज्यादा सुविधा होगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसका शिलान्यास कर चुके हैं।

2. उत्तरकाशी: टनल और चौड़े हाईवे गंगोत्री, यमुनोत्री पहुंचना होगा आसान
सुप्रीम कोर्ट से मंजूरी मिलने पर उत्तरकाशी से गंगोत्री तक हाईवे चौड़ीकरण का काम शुरू होगा। मार्च 2023 से चौड़ीकरण के लिए चट्टानों की कटान शुरू की जाएगी। 100 मीटर के दायरे में हाईवे का चौड़ीकरण होना है। परियोजना की लागत करीब 15 सौ करोड़ रुपये है। हाईवे का ब्लैक टॉप करीब 10 मीटर होगा। दूसरी ओर जिले में यमुनोत्री हाईवे पर बनी रही करीब साढ़े चार किमी लंबी सिलक्यारा टनल नए साल में पूरी हो जाएगी। इसे वर्ष 2022 में जुलाई में पूरा होना था लेकिन तकनीकी कारणों से कार्य लटक गया। टनल निर्माण से धरासू से बड़कोट की दूरी 28 किमी कम हो जाएगी।

3. नई टिहरी: विश्व पर्यटन के फलक पर चमकेगी टिहरी झील
टिहरी झील को विश्वस्तरीय पर्यटन स्थल बनाने के लिए स्वीकृत 1954 करोड़ के प्रोजेक्ट पर नए साल में काम शुरू होगा। डोबरा-चांठी, तिवाड़ गांव और पीपलडाली में भी नए बोटिंग प्वाइंट बनेंगे। 19 सौ करोड़ से झील के चारो ओर रिंग रोड, साइकिल ट्रैक, हट्स, योग ग्राम, होम स्टे, पैदल ट्रैक बनाए जाएंगे। झील क्षेत्र के आसपास 38 कार्यों को छह क्लस्टर में बांटा गया है। इनमें वाटर पार्क, स्वीमिंग पूल, एम्यूजमेंट राइड्स, ईको हट्स, पार्किंग, एकीकृत सूचना केंद्र, लाइट एंड साउंड शो, ब्रिज, योग और पंचकर्म, बायोडायवर्सिटी पार्क, एडवेंचर रिजॉर्ट से लेकर रिंग रोड भी बनाई जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top