Headline
पीएम मोदी के कार्यक्रम में किच्छा के युवक को किया गया नोमिनेट
सुप्रीम कोर्ट की फटकार : हरक सिंह रावत और किशन चंद को कॉर्बेट नेश्नल पार्क मामले में नोटिस
उत्तराखंड के ग्राफिक एरा यूनिवर्सिटी में CM धामी ने किया छठवें वैश्विक आपदा प्रबंधन सम्मेलन का शुभारम्भ
उत्तराखंड में निर्माणाधीन टनल धंसने से बड़ा हादसा, सुरंग में 30 से 35 लोगों के फंसे होने की आशंका, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी
मशहूर टूरिस्ट स्पॉट पर हादसा, अचानक टूट गया कांच का ब्रिज, 30 फीट नीचे गिरकर पर्यटक की मौत
81000 सैलरी की बिना परीक्षा मिल रही है नौकरी! 12वीं पास तुरंत करें आवेदन
देश के सबसे शिक्षित राज्य में चपरासी की नौकरी के लिए कतार में लगे इंजीनियर, दे रहे साइकिल चलाने का टेस्ट
Uttarakhand: पहली बार घर-घर किया गया विशेष सर्वे, प्रदेश से दो लाख मतदाता गायब, नोटिस जारी
Uttarakhand: धामी सरकार का एलान, राज्य स्थापना दिवस तक हर व्यक्ति को मिलेगा आयुष्मान कवच

पोस्टल बैलेट को लेकर अब तक का सबसे बड़ा खुलासा, हरीश रावत ने किया विडियो वायरल

चुनाव एक ऐसी प्रक्रिया है जिस पर समाज का भविष्य टिका होता है। इसीलिए चुनाव व चुनाव से जुड़े हर कार्य को बहुत ही सावधानी से व ध्यानपूर्वक आयोजित कराया जाता है, जिसकी ज़िम्मेदारी खासतौर पर चुनाव आयोग को सौंपी गयी है लेकिन उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष हरीश रावत ने एक ऐसा विडियो ट्विटर के माध्यम से वायरल किया है जिसने चुनाव आयोग के नाम पर बहुत बड़ा सवाल खड़ा कर दिया है और उस विडियो को देखने के बाद सोशल मीडिया पर खूब खलबली मच रही है।

14 फरवरी को हुए विधानसभा चुनाव के लिए हुए मतदान के बाद पोस्टल बैलेट के जरिये अभी भी कही न कही मतदान का क्रम जारी है। ऐसे में हरीश रावत ने एक विडियो वायरल कर पोस्टल बैलेट पर हो रही धांधली का दावा किया है। विडियो के साथ उन्होंने ये भी लिखा है कि एक छोटी सी विडियो सबकी जानकारी के लिए वायरल कर रहा हूँ। इसमें एक आर्मी के सेंटर में किस प्रकार से एक ही व्यक्ति सारे वोटों को टिक कर रहा है। विडियो में साफ़ देखा जा सकता है कि किस प्रकार एक सैन्य कैंप में एक आदमी कई पोस्टल बैलेट पर हस्ताक्षर कर रहा है और एक ही ख़ास पार्टी के प्रत्याशी के नाम के सामने टिक लगा रहा है । यहाँ तक कि सभी लोगो के बदले के हस्ताक्षर भी वही कर रहा है।

अब सीधा सवाल उठता है चुनाव आयोग पर। क्या वाकई चुनाव आयोग अपनी ज़िम्मेदारी को लेकर सतर्क है? क्या वाकई चुनाव आयोग चल रही इस धांधली से अंजान है? इसके बाद पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने निर्वाचन आयोग से इसकी सख्त जांच पड़ताल करने का आग्रह किया है । कौन है इस मामले का मास्टरमाइंड इसका अभी तक खुलासा नहीं हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top