जब पीपीई किट पहने मुख्यमंत्री ने खुद जाना मरीज़ों का हाल

Must Read

उत्तराखंड न्यूज़ एक्सप्रेस के इस समाचार को सुनें

बागेश्वर – मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने हाल ही में घोषणा की थी की कोरोनाकाल में अनाथ हुए बच्चों को प्रतिमाह 3000 रुपए की धनराशी मुहैय्या कराई जाएगी. जो की उसके 21 वर्ष की आयु के होने तक निरंतर जारी रहेगी. वहीँ प्रदेश के सीएम आज किसी दुसरे कारण से चर्चाओं में हैं.

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने आज पीपीई किट पहनकर बागेश्वर के जिला अस्पताल का खुद निरिक्षण किया. इस दौरान कोविड वार्ड में मरीजों से बातचीत कर उनका हालचाल जाना। वहीँ अस्पताल एवम मरीजों को भरोसा दिलाते हुए कहा की कोरोना संक्रमण को रोकने और मरीजों की सहायता के लिए हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं।

राज्य में कोविड के मामलों में कमी भी आ रही है। जल्द ही राज्य इस महामारी से बाहर निकलेगा। गांवों में संक्रमण को रोकने के लिए निगरानी समिति को मजबूत किया जा रहा है और स्वास्थ्य किट बांटे जा रहे हैं। रेमडेसिवीर अब अस्पताओं में पर्याप्त मात्रा में हैं। विभागीय और आउटसोर्सिंग से रिक्त पदों को भरा जा रहा है साथ ही दवाइयों की कमी को भी दूर किया जा रहा है। प्रदेशवासियों के स्वास्थ्य की सुरक्षा के प्रति राज्य सरकार प्रतिबद्ध है।

गौरतलब है की प्रदेश में कोरोना के कारण स्थिति बहुत ज्यादा अच्छी नही है और उत्तराखंड उन राज्यों में शामिल हो गया है जो की इस आपदा में सबसे अधिक प्रभावित हुए हैं. ऐसे में सबसे बड़ा सवाल यह है की हाल में मुख्यमंत्री की कुर्सी संभाल रहे तीरथ सिंह रावत क्या जनता का दिल जीत पाते है या नहीं?

इससे पहले चम्पावत में भी पीपीई किट पहनकर कर चुकें हैं निरिक्षण 

जनपद चंपावत के भ्रमण के दौरान आज जिले में कोरोना महामारी की रोकथाम के लिए किए गए प्रबंधन एवं स्वास्थ्य व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया गया। इस दौरान जिला चिकित्सालय का निरीक्षण किया और वहां भर्ती कोविड पॉजिटिव मरीजों से उनके स्वास्थ्य के बारे में भी जानकारी ली। उन्हें ऑक्सीजन, दवाइयों की किट, उचित उपचार और अन्य सुविधाएं समय पर और ठीक से मिल रही है या नहीं, उनसे इस बारे में जानकारी ली।

इसके साथ ही चिकित्सालय में भर्ती कोविड पॉजिटिव मरीजों के स्वास्थ्य के बारे में तथा जिला चिकित्सालय में उपलब्ध स्वास्थ्य सुविधाओं के बारे में प्रमुख चिकित्साधीक्षक से भी जानकारी ली। चंपावत के जिला चिकित्सालय में मरीजों को दी जा रही स्वास्थ्य सुविधाएं एवं भोजन आदि की व्यवस्थाएं संतोषजनक है।

 

Latest News

कोरोना को लेकर सरकार सख्त: बिना मास्क पकड़े जाने पर 1000 रुपए तक जुर्माना

देहरादून राजधानी की सड़कों व बाजारों में बिना मास्क के घूमने वालों को यह खबर सावधान करने वाली है।...

More Articles Like This