Headline
पीएम मोदी के कार्यक्रम में किच्छा के युवक को किया गया नोमिनेट
सुप्रीम कोर्ट की फटकार : हरक सिंह रावत और किशन चंद को कॉर्बेट नेश्नल पार्क मामले में नोटिस
उत्तराखंड के ग्राफिक एरा यूनिवर्सिटी में CM धामी ने किया छठवें वैश्विक आपदा प्रबंधन सम्मेलन का शुभारम्भ
उत्तराखंड में निर्माणाधीन टनल धंसने से बड़ा हादसा, सुरंग में 30 से 35 लोगों के फंसे होने की आशंका, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी
मशहूर टूरिस्ट स्पॉट पर हादसा, अचानक टूट गया कांच का ब्रिज, 30 फीट नीचे गिरकर पर्यटक की मौत
81000 सैलरी की बिना परीक्षा मिल रही है नौकरी! 12वीं पास तुरंत करें आवेदन
देश के सबसे शिक्षित राज्य में चपरासी की नौकरी के लिए कतार में लगे इंजीनियर, दे रहे साइकिल चलाने का टेस्ट
Uttarakhand: पहली बार घर-घर किया गया विशेष सर्वे, प्रदेश से दो लाख मतदाता गायब, नोटिस जारी
Uttarakhand: धामी सरकार का एलान, राज्य स्थापना दिवस तक हर व्यक्ति को मिलेगा आयुष्मान कवच

देखिये VIDEO: उत्तराखंड में बदला मौसम, बर्फ की सफेद चादर से ढके पहाड़

देश के कई राज्यों में मौसम का मिजाज बदलने लगा है. मैदानी इलाकों के तापमान में कमी दर्ज की जा रही है तो वहीं, पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी का सिलसिला जारी हो गया है. हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के कई इलाकों में बर्फबारी के साथ बारिश देखने को मिल रही है. हिमालय के ऊंचे इलाकों में कल यानी 1 नवंबर की शाम से बर्फबारी का सिलसिला जारी है. इसके अलावा उत्तराखंड के धारचूला के निचले इलाकों में बारिश हो रही है.

इसके अलावा, अक्टूबर के महीने में कश्मीर के ऊंचाई वाले इलाकों में भी बर्फबारी की गतिविधियां देखने को मिली थीं. घाटी में हुई बर्फबारी के चलते निर्धारित कश्मीर में समय से पहले ही ठंड ने दस्तक दे दी है. गुलमर्ग समेत घाटी के कई ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी हुई थी. वहीं, हिमाचल प्रदेश के कई इलाकों में भी पिछले हफ्ते बर्फबारी देखने को मिली थी.


मौसम विभाग का कहना है कि नवंबर में देश के अधिकांश हिस्सों में रात का तापमान सामान्य से ज्यादा रहेगा. आईएमडी के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने कहा कि देश के अधिकांश इलाकों में नवंबर के दौरान न्यूनतम तापमान सामान्य से अधिक रहने की उम्मीद है. मौसस विभाग ने इस महीने शीतलहर की संभावना को एक तरह से खारिज करते हुए कहा कि जम्मू-कश्मीर के बड़े हिस्से, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड में दिन के तापमान के सामान्य से अधिक रहने की संभावना है. बता दें, उत्तर भारत में सर्दियों का असर नवंबर के मध्य से महसूस होना शुरू होता है, जब न्यूनतम तापमान धीरे-धीरे गिरकर 15 डिग्री सेल्सियस से नीचे चला जाता है और रातें सर्द हो जाती हैं.

उत्तर भारत में तापमान में कमी देखी जा रही है तो वहीं, दक्षिणी इलाकों में बारिश का सिलसिला जारी है. अगर दिल्ली की बात करें तो आज, 2 नवंबर को न्यूनतम तापमान 15 डिग्री और अधिकतम तापमान 32 डिग्री दर्ज किया जा सकता है. वहीं, 2 से 5 नवंबर के बीच तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल और केरल और माहे में बारिश की गतिविधियां जारी रहेंगी. वहीं, पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र में 4 से 6 नवंबर के बीच हल्की से मध्यम बारिश के साथ बर्फबारी देखने को मिल सकती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top