Headline
पीएम मोदी के कार्यक्रम में किच्छा के युवक को किया गया नोमिनेट
सुप्रीम कोर्ट की फटकार : हरक सिंह रावत और किशन चंद को कॉर्बेट नेश्नल पार्क मामले में नोटिस
उत्तराखंड के ग्राफिक एरा यूनिवर्सिटी में CM धामी ने किया छठवें वैश्विक आपदा प्रबंधन सम्मेलन का शुभारम्भ
उत्तराखंड में निर्माणाधीन टनल धंसने से बड़ा हादसा, सुरंग में 30 से 35 लोगों के फंसे होने की आशंका, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी
मशहूर टूरिस्ट स्पॉट पर हादसा, अचानक टूट गया कांच का ब्रिज, 30 फीट नीचे गिरकर पर्यटक की मौत
81000 सैलरी की बिना परीक्षा मिल रही है नौकरी! 12वीं पास तुरंत करें आवेदन
देश के सबसे शिक्षित राज्य में चपरासी की नौकरी के लिए कतार में लगे इंजीनियर, दे रहे साइकिल चलाने का टेस्ट
Uttarakhand: पहली बार घर-घर किया गया विशेष सर्वे, प्रदेश से दो लाख मतदाता गायब, नोटिस जारी
Uttarakhand: धामी सरकार का एलान, राज्य स्थापना दिवस तक हर व्यक्ति को मिलेगा आयुष्मान कवच

Uttarakhand(education): अब फर्जी डिग्री से पढ़ाकर बच्चों का भविष्य सुधारेंगे गुरुजी, जाँच होने पर कर दिया निलम्बित

Pauri: हाल ही में उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल में बच्चों का भविष्य सुधारने वाले शिक्षकों की डिग्रियों की जांच में लंबे समय से कई खुलासे होते रहे हैं और आज फिर की गयी जांच में एक और गुरु जी की डिग्री फर्जी मिलने पर उनको निलंबित कर दिया गया है।आपको बता दे की यह मामला रुद्रप्रयाग जिले का बताया जा रहा है जहाँ एक शिक्षक की फर्जी डिग्री मिलने से शिक्षा विभाग सवालो के घेरे में है उसी बिच एसआईटी जांच में B.Ed की डिग्री फर्जी पाए जाने पर रुद्रप्रयाग जिले में तैनात एलटी शिक्षक को अपर निदेशक माध्यमिक शिक्षा गढ़वाल मंडल ने निलंबित कर दिया है।

फर्जी डिग्री के मामले में एसआईटी ने सहायक अध्यापक की B.Ed की डिग्री की जांच मेरठ विश्वविद्यालय में भेज डी है। विश्वविद्यालय मेरठ के सचिव ने अपनी जांच रिपोर्ट में संबंधित अनुक्रमांक और इनरोलमेंट नंबर होने की पुष्टि नहीं की। जिस कारण एसआईटी जांच में प्रथम कारवाई में B.Ed की अंक तालिका और प्रमाण पत्र पर संदेश और फर्जी होने की मिथ्या होने पर सहायक अध्यापक को निलंबित कर दिया गया है।

इस मामले में शिक्षा विभाग ने तुरंत कदम उठाते हुए अब शिक्षक को 15 दिनों के भीतर जांच बीईओ के लिए भेज दिया है। साथ ही निलंबित शिक्षक को फर्जी डिग्री होने पर आरोप पत्र भी भेजे जाएंगे। अपर निदेशक माध्यमिक शिक्षा गढ़वाल मंडल महावीर बिष्ट ने इस मामले में बताया कि रुद्रप्रयाग जिले के राजकीय इंटर कॉलेज पठालीधार मैं सहायक अध्यापक हिंदी के शिक्षक गुलाब सिंह ने चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय मेरठ से B.Ed 2004 में किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top