पूर्व सीएम हरीश रावत आये ‘प्यारी पहाड़न’ के समर्थन में, बोले सप्ताह में एक बार ज़रूर जाएँ

Must Read

उत्तराखंड न्यूज़ एक्सप्रेस के इस समाचार को सुनें

देहरादून – अपने नाम को लेकर चर्चा में आया देहरादून का रेस्टोरेंट ‘प्यारी पहाड़न’ खासी सुर्खियाँ बटौर चूका है, जहाँ कुछ लोग इस नाम का विरोध कर रहें हैं वहीँ अधिकतर लोग ऐसे है जो खुलकर प्यारी पहाड़न के समर्थन में है, उन नामों में एक नाम पूर्व सीएम हरीश रावत का भी है. पूर्व सीएम ने अपने फेसबुक अकाउंट से इस मामले को लेकर अपनी राय सामने रखी तथा लोगो से आग्रह किया की सप्ताह में एक बार वो इस रेस्टोरेंट में खाना खाने ज़रूर जाएँ.

सोशल मीडिया पर लिखते हुए हरीश रावत ने कहा की “हमारी एक बेटी प्रीति_मंडोलिया ने कारगी चौक देहरादून के पास “#प्यारी_पहाड़न” के नाम से एक होटल कम रेस्टोरेंट खोला है, जिसमें उत्तराखंडी उत्पादों पर आधारित भोजन परोसा जाता है, बहुत चर्चाएं हैं। #प्रीति आपके प्रयास के साथ हम सबका आशीर्वाद है। हमारा प्रयास था कि फूड सेक्टर में हमारी बहनें, हमारी बेटियां बड़ी संख्या में आएं, इसलिये हमने इंदिरा अम्मा कैंटीन खोली थी और अब मुझे खुशी है कि सड़कों के किनारे भी ऐसे ढाबे बने हुये हैं, जिन ढाबों में #उत्तराखण्डी भोजन परोसा जाता है और महानगर में जिस प्रकार से आपने, आपसे पहले एक हमारी बहन और कुछ भाइयों ने भी प्रयास किया। मुझे खुशी है कि आपके प्रयास को सबका आशीर्वाद मिल रहा है। मैं अपील करना चाहता हूंँ लोगों से कि जरूर हर हफ्ते एक बार अपने परिवार के साथ “प्यारी पहाड़न” रेस्टोरेंट में #उत्तराखंडी_व्यंजनों का स्वाद चखें और अपने घर व पूर्वजों को याद करें।

आपको बताते चले की इस रेस्टोरेंट को खुले अभी सिर्फ कुछ ही दिन हुए हैं लेकिन बहुत जल्दी इस रेस्टोरेंट का नाम लोगो की जुबां पर आ गया है. वहीँ रेस्टोरेंट की ओनर प्रीति का कहना है की उन्होंने पाई-पाई जोड़कर यह रेस्टोरेंट खड़ा किया है और एक महिला के लिए व्यापार कर पाना कितना मुश्किल है यह सब जानतें हैं और वही लोग इसका विरोध कर रहें हैं जो प्यारी पहाड़न का मतलब तक नहीं जानतें”

 

Latest News

कोरोना को लेकर सरकार सख्त: बिना मास्क पकड़े जाने पर 1000 रुपए तक जुर्माना

देहरादून राजधानी की सड़कों व बाजारों में बिना मास्क के घूमने वालों को यह खबर सावधान करने वाली है।...

More Articles Like This