Headline
पीएम मोदी के कार्यक्रम में किच्छा के युवक को किया गया नोमिनेट
सुप्रीम कोर्ट की फटकार : हरक सिंह रावत और किशन चंद को कॉर्बेट नेश्नल पार्क मामले में नोटिस
उत्तराखंड के ग्राफिक एरा यूनिवर्सिटी में CM धामी ने किया छठवें वैश्विक आपदा प्रबंधन सम्मेलन का शुभारम्भ
उत्तराखंड में निर्माणाधीन टनल धंसने से बड़ा हादसा, सुरंग में 30 से 35 लोगों के फंसे होने की आशंका, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी
मशहूर टूरिस्ट स्पॉट पर हादसा, अचानक टूट गया कांच का ब्रिज, 30 फीट नीचे गिरकर पर्यटक की मौत
81000 सैलरी की बिना परीक्षा मिल रही है नौकरी! 12वीं पास तुरंत करें आवेदन
देश के सबसे शिक्षित राज्य में चपरासी की नौकरी के लिए कतार में लगे इंजीनियर, दे रहे साइकिल चलाने का टेस्ट
Uttarakhand: पहली बार घर-घर किया गया विशेष सर्वे, प्रदेश से दो लाख मतदाता गायब, नोटिस जारी
Uttarakhand: धामी सरकार का एलान, राज्य स्थापना दिवस तक हर व्यक्ति को मिलेगा आयुष्मान कवच

74 वर्ष की आयु में दुर्गम रास्तों पर पैदल चलकर आपदा प्रभावित स्थानों में पहुंचे हरीश रावत

शनिवार तड़के देहरादून के आस-पास हुई मूसलाधार बारिश ने जहाँ दैवीय आपदा नुकसान किया है, अभी भी काफी स्थानों पर लोगो के फंसे होने की ख़बर आ रही है. 300 के करीब जेसीबी राहत कार्यों में लगी हुई है और लगभग 274 सड़कों पर आवाजाही बंद है. ऐसे में सूबे के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी भी तुरंत आपदा प्रभावित क्षेत्रों में दौरा करने पहुंचे.

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने भी आपदा प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया, जहाँ उनके इस दौरे को सोशल मीडिया पर काफी वाहवाही मिल रही है.

हरीश रावत ने अपने फेसबुक पेज से 2 विडियो शेयर करते हुए कहा की “आपदा प्रभावित क्षेत्र सरखेत में गांव जाने के लिए वैकल्पिक रास्ते जंगल से बनाए गए हैं। वहां की स्थिति बहुत भयावह है। गांव के लोग हिम्मत बांधे हुए हैं, अपने जीवन से संघर्ष कर रहे हैं। कुछ लोग अभी भी दबे हुए हैं, रेस्क्यू के लिए #NDRF की टीम व अन्य टीमें लगी हुई हैं।

इन विडियो में देखा जा सकता है की आपदा के कारण सरखेत गाँव में पहुंचे के लिए बैकल्पिक रास्ते बनायें गये हैं जो की जंगलों के खतरनाक रास्तों से गुज़र रहे हैं वहीँ पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत लड़खड़ाते और सँभालते हुए उन दुर्गम क्षेत्रों में पहुँच रहे हैं, सोशल मीडिया पर काफी लोगो ने इस विडियो को देखकर हरीश रावत की वाहवाही की.

प्रदेश की प्रवक्ता गरिमा महरा दौसौनी इस विडियो पर लिखती है “गज़ब का हौसला“, वहीँ एक यूजर सोमेन्द्र टंडन लिखतें है की “रावत जी को उत्तराखंड को जनमानस फिक्र है इसलिए कठिन रास्तों से जाकर आपदा प्रभावित लोगों से मिल रहे है उत्तराखंड के सपूत को प्रणाम ।

वही एक अन्य यूजर मोनिस राजपूत ने लिखा “इस राज्य का विकास जिस तरह से हरीश रावत सरकार ने किया था वह काबिले तारीफ है पूरे राज्य में सड़कों का जाल नदियों पर पुल काबिले तारीफ थे जब लोग उत्तराखंड में आते थे तो हमारे उत्तराखंड की सड़कों का जिक्र करते थे और तारीफ करते थे लेकिन जब से भारतीय जनता पार्टी की सरकार आई है पूरे प्रदेश की सड़कें तहस-नहस हो चुकी हैं पुल गिरते जा रहे हैं विकास का कोई नाम नहीं है उत्तराखंड अपने विकास से पूरे 5 साल पीछे हो चुका है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top