Headline
पीएम मोदी के कार्यक्रम में किच्छा के युवक को किया गया नोमिनेट
सुप्रीम कोर्ट की फटकार : हरक सिंह रावत और किशन चंद को कॉर्बेट नेश्नल पार्क मामले में नोटिस
उत्तराखंड के ग्राफिक एरा यूनिवर्सिटी में CM धामी ने किया छठवें वैश्विक आपदा प्रबंधन सम्मेलन का शुभारम्भ
उत्तराखंड में निर्माणाधीन टनल धंसने से बड़ा हादसा, सुरंग में 30 से 35 लोगों के फंसे होने की आशंका, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी
मशहूर टूरिस्ट स्पॉट पर हादसा, अचानक टूट गया कांच का ब्रिज, 30 फीट नीचे गिरकर पर्यटक की मौत
81000 सैलरी की बिना परीक्षा मिल रही है नौकरी! 12वीं पास तुरंत करें आवेदन
देश के सबसे शिक्षित राज्य में चपरासी की नौकरी के लिए कतार में लगे इंजीनियर, दे रहे साइकिल चलाने का टेस्ट
Uttarakhand: पहली बार घर-घर किया गया विशेष सर्वे, प्रदेश से दो लाख मतदाता गायब, नोटिस जारी
Uttarakhand: धामी सरकार का एलान, राज्य स्थापना दिवस तक हर व्यक्ति को मिलेगा आयुष्मान कवच

इंडोनेशिया भगदड़- मरने वालो की संख्या में इज़ाफा, 174 लोगो की मौत

जकार्ता: इंडोनेशिया में एक फुटबॉल मैच के दौरान मची भगदड़ में अब तक 174 लोगों की मौत हो चुकी है. मैच के दौरान हुए विवाद को शांत करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े, जिससे स्टेडियम में प्रशंसकों के बीच भगदड़ मच गई।

रविवार को पुलिस अधिकारियों ने मरने वालों की संख्या की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि पूर्वी जावा प्रांत के मलंग शहर के कंजुरुहान स्टेडियम के अंदर दो प्रतिद्वंद्वी फुटबॉल टीमों के समर्थकों के बीच उस समय कई झड़पों की सूचना मिली थी।

जब इंडोनेशियाई प्रीमियर लीग मैच में पर्सेबाया सुरबाया ने अरेमा मलंग को 3-2 से हराया। पूर्वी जावा के पुलिस प्रमुख निको अफिंटा ने शनिवार देर रात मैच खत्म होने के बाद विवाद को शांत करने के लिए दंगा विरोधी पुलिस को बताया कि उन्हें आंसू गैस के गोले दागने पड़े, जिससे समर्थकों में दहशत फैल गई. अफिंटा के मुताबिक आंसू गैस के गोले के प्रभाव से बचने के लिए सैकड़ों पंखे निकास द्वार की ओर भागे। उन्होंने बताया कि इस दौरान कुचलने और दम घुटने से 34 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई.

अफिंटा के मुताबिक 300 से ज्यादा लोगों को पास के अस्पतालों में ले जाया गया, लेकिन उनमें से कई की रास्ते में या इलाज के दौरान मौत हो गई. उन्होंने कहा कि अस्पताल में भर्ती 180 घायलों में से कई की हालत बिगड़ती जा रही है, ऐसे में मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top