Headline
पीएम मोदी के कार्यक्रम में किच्छा के युवक को किया गया नोमिनेट
सुप्रीम कोर्ट की फटकार : हरक सिंह रावत और किशन चंद को कॉर्बेट नेश्नल पार्क मामले में नोटिस
उत्तराखंड के ग्राफिक एरा यूनिवर्सिटी में CM धामी ने किया छठवें वैश्विक आपदा प्रबंधन सम्मेलन का शुभारम्भ
उत्तराखंड में निर्माणाधीन टनल धंसने से बड़ा हादसा, सुरंग में 30 से 35 लोगों के फंसे होने की आशंका, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी
मशहूर टूरिस्ट स्पॉट पर हादसा, अचानक टूट गया कांच का ब्रिज, 30 फीट नीचे गिरकर पर्यटक की मौत
81000 सैलरी की बिना परीक्षा मिल रही है नौकरी! 12वीं पास तुरंत करें आवेदन
देश के सबसे शिक्षित राज्य में चपरासी की नौकरी के लिए कतार में लगे इंजीनियर, दे रहे साइकिल चलाने का टेस्ट
Uttarakhand: पहली बार घर-घर किया गया विशेष सर्वे, प्रदेश से दो लाख मतदाता गायब, नोटिस जारी
Uttarakhand: धामी सरकार का एलान, राज्य स्थापना दिवस तक हर व्यक्ति को मिलेगा आयुष्मान कवच

धामी सरकार के लिए कांग्रेस खेमे से एक विधायक देंगे अपनी गद्दी की क़ुरबानी ?

उत्तराखंड के राजनीतिक गलियारों से बड़ी और चौकाने वाली ख़बर निकल कर आ रही है। सूत्रों के अनुसार प्रदेश के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के लिए कांग्रेस के एक बिधायक अपनी गद्दी छोड़ने को तैयार है। यह ख़बर आते ही राजनीतिक गलियारों में अटकलों का बाजार तेज हो गया कि कांग्रेस खेमे से कोई अपनी गद्दी छोड़ने को अमादा है और यह ख़बर राजनैतिक बाजार में तेजी लाने के लिए काफी थी।

सूत्रों के हवाले से यह ख़बर है की कुमाऊ मंडल के एक कांग्रेस बिधायक पुष्कर सिंह धामी के लिए अपनी गद्दी की क़ुरबानी देना चाहते है। अपनी गद्दी की क़ुरबानी देने वाले विधायक के नाम का खुलासा अभी नहीं हुआ है लेकिन चर्चा के बाजार में कुमाऊ मंडल से इस सीट का दावा किया जा रहा है। वहीँ आपको बता दे कि भाजपा की नज़र फ़िलहाल कांग्रेस के उन विधायको पर है जो आलाकमान और राज्य के नेतृत्व से नाराज है।

गौरतलब है कि विजय बहुगुणा के लिए भाजपा बिधायक ने अपनी सीट छोड़ी थी। प्रदेश में अबतक दो बार ऐसे मौके आए जब दूसरी पार्टी के विधायकों ने मुख्यमंत्री पद के लिए अपनी गद्दी की क़ुरबानी दी हो। पहली बार 2007 में जब बीजेपी ने बी.सी खंडूरी को मुख्यमंत्री बनाया था तब बीजेपी भाजपा सरकार के सीएम खंडूड़ी के लिए कांग्रेस विधायक लेफ्टिनेंट जनरल टीपीएस रावत (रि) ने सीट छोड़ी थी।

दूसरी बार 2012 में जब कांग्रेस की सरकार बनी थी तो उस वक़्त पार्टी ने विजय बहुगुणा को मुख्यमंत्री पद ने नवाजा था। विजय बहुगुणा उस समय सांसद थे। उनके लिए सितारगंज से बीजेपी विधायक किरण मंडल ने विधान सभा की सीट खाली की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top