ओलंपिक में खेल रही वंदना कटारिया, यहाँ घर वालो को पड़ रही जातिसूचक गालियाँ

Must Read

उत्तराखंड न्यूज़ एक्सप्रेस के इस समाचार को सुनें

हरिद्वार- एक बेहद शर्मनाक खबर हरिद्वार से आ रही है जिसे सुनकर आपको गुस्सा आने के साथ साथ ऐसे लोगो की मनोदशा पर तरस भी आएगा, जिन्होंने यह हरकत की है. कल ओलंपिक में महिला हॉकी टीम को हार का सामना करना पड़ा, जिसका मतलब कतई यह नहीं होता की हमारी महिला टीम बेकार है या खराब प्रदर्शन कर रही है. अगर टीम का प्रदर्शन इतना ही खराब होता तो वो सेमीफाइनल में नही पहुँच पाती.

क्या था मामला?

टोक्यो ओलंपिक में कल मिली हार के बाद वैसे तो सभी लोग मायूस है तथा well played कहकर हौसला भी बढ़ा रहें हैं लेकिन कुछ लोग इस हार को लेकर कुछ ज्यादा ही उत्तेजित हो गये तथा टीम में खेल रही खिलाड़ी वंदना कटारिया के घर पहुँच गये जहाँ उन्होंने आतिशबाजी की और गाली गलौच की इन सब में सबसे गन्दी बात यह रही की हंगामा करने के साथ साथ कुछ लोगो ने जाति सूचक शब्दों गालियों का इस्तेमाल भी किया. वंदना कटारिया के भाई ने इसकी शिकायत पुलिस से की है. हरिद्वार के एसएसपी कृष्णराज एस ने बताया कि वंदना कटारिया के भाई की शिकायत पर जांच की जा रही है. पुलिस ने आईपीसी की धारा 504 और एससी/एसटी एक्ट की धारा 3 के तहत प्राथमिकी दर्ज की है.

UPDATE

क्वार्टर फाइनल में जीत के बाद भारतीय महिला हॉकी टीम ने इतिहास रचा था, लेकिन सेमीफाइनल मुकाबले में टीम को अर्जेंटीना से हार का सामना करना पड़ा. बीते बुधवार को हुए इस मुकाबले के बाद टीम इंडिया को निराशा हाथ लगी, लेकिन महिला टीम के प्रदर्शन को सभी ने सराहा. इसी बीच उत्तराखंड में वंदना कटारिया के भाई की शिकायत भी पुलिस को मिली, जिसमें सेमीफाइनल में हार के बाद उनके परिवारवालों से गाली-गलौच करने की बात कही गई. इस मामले में पुलिस अब जांच कर रही है. जांच के बाद पुलिस मामले में कार्रवाई कर सकती है.

बता दें कि भारतीय महिला हॉकी टीम का ओलंपिक में इससे पहले सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन मास्को ओलंपिक 1980 में रहा था जब वह छह टीमों में चौथे स्थान पर रही थी. महिला हॉकी ने तब ओलंपिक में पदार्पण किया था और मैच राउंड रॉबिन आधार पर खेले गए थे, जिसमें शीर्ष पर रहने वाली दो टीमें फाइनल में पहुंची थीं. इस बार टीम इंडिया को फाइनल में पहुंचने की उम्मीद थी, लेकिन सेमीफाइनल में ही हार कर टीम बाहर हो गई. अब कांस्‍य पदक पर टीम की नजर है.

 

 

Latest News

कोरोना को लेकर सरकार सख्त: बिना मास्क पकड़े जाने पर 1000 रुपए तक जुर्माना

देहरादून राजधानी की सड़कों व बाजारों में बिना मास्क के घूमने वालों को यह खबर सावधान करने वाली है।...

More Articles Like This