9.9 C
Dehradun
Tuesday, January 31, 2023

SIT का ख़ुलासा – सोची समझी साज़िश के तहत की गयी अंकिता की हत्या

Must Read

उत्तराखंड न्यूज़ एक्सप्रेस के इस समाचार को सुनें
- Advertisement -

देहरादून – अंकिता भंडारी की हत्या को लेकर एसआईटी केस को सुलझाने की मशक्कत में लगी हुई है. जिसमे आरोपियों से पूछताछ होने पर नए नए खुलासे हो रहे हैं. ताज़ा रिपोर्ट्स के मुताबिक पुलकित आर्य ने सोची समझी साजिश के तहत अंकिता भभंडारी की हत्या की.

ऋषिकेश के वनंत्रा रिजॉर्ट में चलने वाले काले कारनामों के खुलासे और अंकिता भंडारी को जानकारी होने की बात के चलते वारदात को अंजाम दिया। पुल्कित को डर था कि कहीं वह अंकिता की वजह से फंस ना जाए, इसलिए उसने 18 सितंबर को नहर में धक्का देकर मौत के घाट उतार दिया। उसने अंकिता की हत्या को हादसा दिखाने के लिए मोबाइल को आधार बनाया था।

SIT इनचार्ज डीआईजी पी आर देवी ने बताया, ‘सबूत इकट्ठा किए गए और पोस्टमॉर्टम की रिपोर्ट में भी किसी तरह की असंगति नजर नहीं आई। आरोपियों को क्राइम सीन पर भी ले जाया गया। रिजॉर्ट के स्टाफ से पूछताछ में खुलासा हुआ कि टॉप कैटिगरी के रूम में ठहरे हुए गेस्ट्स को ही VIP कहा जाता था।’ अंकिता मर्डर केस में आरोपियों से पुलिस की दो दिनों की पूछताछ में अब यह खुलासा हुआ है कि पुलकित ने हत्या के अगले दिन मोबाइल नहर में फेंका था ताकि वह अपनी कहानी साबित कर सके।

- Advertisement -

पुलिस के मुताबिक, पुलकित ने सोची-समझी साजिश के तहत अंकिता की हत्या की थी। उसने 18 सितंबर को नहर में धक्का देकर अंकिता की हत्या को हादसा दिखाने के लिए मोबाइल को आधार बनाया था। एसआईटी के साथ पुलिस की टेक्निकल एक्सपर्ट की टीम की पूछताछ में पुलकित ने बताया कि अंकिता की हत्या करने के बाद जब वह वापस आया तो हत्या को हादसा दिखाने के लिए उसने मोबाइल अगले दिन नहर में फेंक दिया था। यही कारण है कि उसके मोबाइल पर 19 सितंबर को भी घंटी जा रही थी।

- Advertisement -
कोच्चि. केरल के एक विश्वविद्यालय की छात्राएं उपस्थिति की कमी के लिए अतिरिक्त छूट के रूप में “माहवारी राहत”...

Latest News

More Articles Like This